चिराग तले अंधेरा , स्वच्छता अभियान के हाल

चिराग तले अंधेरा , स्वच्छता अभियान के हाल

फतेहपुर खबर
सनी गोस्वामी / सुशील मिश्रा 
     

चिराग तले अंधेरा को साबित करता ये दृश्य

   स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखता कूड़ेदान

     जब जिले मुखिया के द्वार सुरक्षित नही तो कैसे होगा गांव की गलियों में

      जहां पूरे भारत में भारत सरकार स्वच्छता अभियान का ढिंढोरा पीट रही है वहीं कुछ जगह ऐसे भी हैं जहां पर स्वच्छता तो है लेकिन अभियान नहीं दिख रहा है ।


     जी बात करते हैं फतेहपुर जिले के सिविल लाइन मोहल्ले का जहां पर फतेहपुर के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह का निवास स्थल है ।

वहां पर नगरपालिका के द्वारा सफाई तो नियमित रूप से हो रही है लेकिन वहां के निवासियों द्वारा कूड़ा फेंकने के लिए किसी भी प्रकार कूड़ेदान की व्यवस्था नहीं की गई है और जो कूड़ेदान रखा है उस कूड़ेदान के हाल जब आप जानेंगे तो आप भी कहेंगे

क्या जिलाधिकारी महोदय ने इस तरह की व्यवस्था करा रखी है कूड़ेदान में डिब्बा टांगने का हैंडल तो है कूड़ेदान नहीं है कूड़ेदान के हालात यह हैं कि उसमें से आपको रुपए रखने की जगह नहीं मिलेगी तो कूड़ा कहां से रखेंगे ।  
    अब आप ही बताएं जब जिलाधिकारी महोदय के निवास स्थान के पास इस तरह का कूड़ा दान होगा तो गांव की गलियों में किस तरह के कूड़ेदान रखे होंगे किस तरह से वहां सफाई की जाती होगी

जब जिलाधिकारी महोदय के सामने ही नगरपालिका का यह हाल है कि वो कूड़ेदान नहीं रखवा पा रहा है तो किस तरह से गांव के छोटे छोटे किसान ग्रामीण और प्रधान कूड़ेदान की व्यवस्था कराते होंगे ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments