बाढ़ से पीड़ित मुसलमानों को मंदिर में मिली राहत, हिंदू समुदाय ने फिर एक बार पेश की मानवता की मिसाल

 
बाढ़ से पीड़ित मुसलमानों को मंदिर में मिली राहत, हिंदू समुदाय ने फिर एक बार पेश की मानवता की मिसाल 

स्वतंत्र प्रभात 
 

पाकिस्तान में आए बाढ़ की वजह से वहां के लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है, लोगों की हालत बद से बदत्तर हो गई है. बाढ़ का पानी कम हो तो रहा लेकिन पाकिस्तान के लोगों को राहत नहीं मिल रही है. बाढ़ में फंसे पाकिस्तानियों और विस्थापित लाखों लोगों को मदद की राह देख रहें. इस बीच पाकिस्तान के बालूचिस्तान के एक छोटे से गांव में एक हिंदू मंदिर ने वहां से लोगों के लिए मंदिर का दरवाजा खोल दिया है. जहां करीब 200 से 300 बाढ़ पीड़ित लोगों को सहारा दिया गया है. मंदिर की ओर से उन पीड़ितो को रहने खाने की पूरी व्यवस्था की गई है. 

पीड़ितों को सहारा देने वाला मंदिर बालूचिस्तान के खां गांव में स्तिथ है 
आपको बता दें कि बालूचिस्तान के खां गांव में ऊंची जमीन पर स्थित बाबा माधोदास मंदिर के 100 कमरों वाले मंदिर में सभी लोगों को सुरक्षित रखा गया है. लोगों को मुफ्त भोजन भी दिया जा रहा है. यही नहीं हिंदू मंदिर ने न केवल बाढ़ प्रभावित लोगों को बल्कि उनके पशुओं को भी आसरा दिया है. जानकारी के मुताबिक बताया गया कि मंदिर में करीब 200 से 300 बाढ़ पीड़ित मौजूद हैं, जिन्हें सम्मान के साथ हर दिन भोजन और नाश्ता कराया जा रहा है. बता दें कि क्षेत्र में नारी, बोलन और लहरी नदियों में आई बाढ़ के कारण ये गांव पूरे सभी राज्यों से कट चुका है. मंदिर की ओर से बाढ़ पीड़ितों को भोजन और आश्रय प्रदान करके इंसानियत और दरियादिली का परिचय दिया है.
 

   

FROM AROUND THE WEB