जिलाधिकारी ने सीएचसी/पीएचसी चिकित्सा प्रभारियों के साथ वैक्सीनेशन के संबंध में बैठक की

 
जिलाधिकारी ने सीएचसी/पीएचसी चिकित्सा प्रभारियों के साथ वैक्सीनेशन के संबंध में बैठक की


 

शाहजहांपुर।

जिलाधिकारी  उमेश प्रताप सिंह ने नवीन कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद के सभी सीएचसी/पीएचसी चिकित्सा प्रभारियों के साथ वैक्सीनेशन के संबंध में बैठक की।

 इस अवसर पर उन्होनें  फर्स्ट डोज, सेकंड डोज एवं बूस्टर डोज के संबंध में जानकारी लेते हुए कहा कि सेकंड डोज में 50 से 55 हजार वैक्सीनेशन होना है।  उन्होंने सेकंड डोज में धीमी गति से वैक्सीनेशन होने के कारण नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा 20 जनवरी तक शत प्रतिशत वैक्सीनेशन पूरा करना है। कुछ ब्लॉकों में वैक्सीनेशन में अच्छी प्रगति होने पर सराहना की ।

 जिन ब्लॉकों में  टारगेट पूरा नहीं हुआ है उन ब्लाकों के चिकित्सा प्रभारियों से 1 सप्ताह का प्लान उपलब्ध कराने के निर्देश दिए कि वे अगले सप्ताह किस प्लान अनुसार काम करेंगे वह उपलब्ध करवाएं। जिलाधिकारी चिकित्सा प्रभारियों से कहा कि लक्ष्य को पूरा करने में ग्राम प्रधानों से सहयोग ले व आसपास के प्रभावशाली व्यक्तियों से संपर्क कर प्रचार प्रसार करें, जिससे कि वैक्सीनेशन का शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण किया जा सके।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि जिनका सेकंड डोज का टाइम पूरा नहीं हुआ है उनके डाटा को मुख्य चिकित्सा अधिकारी रिव्यू करें। 15 से 18 वर्ष की आयु वर्ग के वैक्सीनेशन हेतु जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि वैक्सीनेशन में तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए प्रचार-प्रसार कराया जाए। गणमान्य लोगों प्रभावशाली लोगों एनजीओ से संपर्क कर प्रचार प्रसार किया जाए, जिससे कि 15 से 18 वर्ष की आयु वर्ग को अधिक से अधिक वैक्सीनेट किया जा सके।

  15 से 18 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों में जिस ब्लॉक का वैक्सीनेशन 20 प्रतिशत से कम है उनको चेतावनी जारी करने के निर्देश दिए । बूस्टर डोज को लेकर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को  निर्देश दिए कि कर्मचारियों, फ्रंटलाइन वर्करों, आंगनवाड़ी, आशा वर्कर, को  कोविड-19 महामारी के बढ़ते संक्रमण के दृष्टिगत पूर्ण वैक्सीनेशन के बाद बूस्टर डोज भी लगवाएं। उन्होंने कहा कि बूस्टर डोज को भी प्राथमिकता से लें।

FROM AROUND THE WEB