मेन रोड सहित शहर में दुकानें बंद, चौकस पुलिस प्रशासन, अब तक इंटरनेट सेवा ठप

 
मेन रोड सहित शहर में दुकानें बंद, चौकस पुलिस प्रशासन, अब तक इंटरनेट सेवा ठप 

राँची, झारखण्ड

                       राजधानी रांची के महात्मा गांधी मार्ग (मेन रोड) में शुक्रवार को हुए उपद्रव के बाद आज पूरा शहर पुलिस प्रशासन के साये में हैं. मेन रोड सहित शहर के सभी हिस्से में लोग दुकान बंद रखे हुए हैं. वहीं मेन रोड में पुलिस चौकस है. मेन रोड में लोगों को सर्जना चौक से डेली मार्केट-सुजाता चौक की ओर जाने से रोका जा रहा है. पुलिस प्रशासन ने अलबर्ट एक्का चौक के पास बेरिकेडिंग लगा रखी है. आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर किसी को भी डेली मार्केट-सुजाता चौक की ओर नहीं जाने दिया जा रहा है. मेन रोड और उससे सटे 500 मीटर के दायरे में धारा 144 लगा दी गयी है. इसके अतिरिक्त उपद्रव के बाद तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए गृह विभाग के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का ने राजधानी रांची क्षेत्र में सभी तरह की इंटरनेट सेवाओं पर अस्थायी रोक लगा दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार यह रोक रांची जिले में रविवार तक लागू रहेगी. ऐसे हुई उपद्रव की शुरुआत

भाजपा से निलंबित नेत्री नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में जुमे की नमाज के बाद एकरा मसजिद के पास से एमजी रोड पर जुलूस निकाला गया. जुलूस में शामिल लोगों ने सड़क पर नुपुर शर्मा का पुतला जलाया. इसके बाद उपद्रवियों ने बवाल शुरू कर दिया. जगह-जगह पत्थरबाजी शुरू कर दी. इसी दौरान डेली मार्केट के समीप बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन के वाहन पर उपद्रवियों ने हमला कर दिया. उनके आगे चल रही पुलिस की स्कॉट गाड़ी भी क्षतिग्रस्त कर दी गयी. मंत्री ने कहा कि भगवान की दया है कि जान बच पायी है.

वाहनों में तोड़फोड़, मीडियावालों की गाड़ी भी तोड़ी

उपद्रवियों द्वारा मीडिया के अलावा पुलिसवालों व आम लोगों के दर्जनों वाहनों में तोड़फोड़ की गयी. भीड़ में शामिल उपद्रवी काफी उग्र थे. वह पुलिसवालों को निशाना कर पत्थर मार रहे थे. इसमें गोंदा थाना प्रभारी अवधेश ठाकुर सिर पर पत्थर लगने से घायल हो गये. इसके अलावा डेली मार्केट के थाना प्रभारी सपन महथा, कोतवाली थाना प्रभारी शैलेश प्रसाद और लोअर बाजार थाना प्रभारी संजय कुमार भी घायल हुए. एसआइएसएफ बोकारो के सिपाही संजू कुमार साहू और जैप-10 के जवान अश्विनी कुमार महतो भी उपद्रवियों की पत्थरबाजी का शिकार हुए. घायलों को सदर अस्पताल और रिम्स ले जाया गया.एसपी-सिटी एसपी संग धक्का-मुक्की

घायलों की तादाद करीब 50 बतायी जाती है. हालांकि 12 लोग रिम्स में इलाजरत हैं. इसमें आठ लोगों को पुलिस कार्रवाई के दौरान गोली लगी है. पांच लोग सदर अस्पताल में इलाजरत हैं. इसमें 22 वर्षीय युवक मो कैफ और मो शाहिल की रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गयी. हांलाकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है. उपद्रवियों ने रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा और सिटी एसपी अंशुमान को घेर लिया था. उनके साथ भी धक्का-मुक्की की बात सामने आयी. बाद में एसएसपी को देर शाम मेडिका में इलाज भर्ती कराया गया. उपद्रवियों की फायरिंग में जैप-3, गोविंदपुर, धनबाद के सिपाही अखिलेश कुमार (35 वर्ष) के पैर में गोली लगी. घायल पुलिसकर्मियों का रिम्स और मेडिका अस्पताल इलाज चल रहा है.

ठेला और अन्य वाहनों में आग लगायी 

कुछ घंटों के लिए मेन रोड रणक्षेत्र में बदल गया. लोग इधर-उधर जान बचाकर गलियों और दुकानों में छिपने लगे. स्थिति बेकाबू हो गयी. उपद्रवियों का मनोबल लगातार बढ़ता जा रहा था. उपद्रवियों ने ठेला और अन्य वाहनों में आग लगा दी. उपद्रवी फायरिंग भी करने लगे. एक घंटे के बवाल के बाद पुलिस व प्रशासन का धैर्य जवाब दे गया. उपद्रवियों को काबू करने के लिए पुलिस ने मोर्चा संभाला और दोपहर 3:10 बजे के करीब 100 राउंड के करीब हवाई फायरिंग की. उपद्रवियों पर लाठी चार्ज किया.

घटना दुर्भाग्यपूर्ण, धैर्य बनाये रखें: सीएम हेमंत सोरेन

सीएम हेमंत सोरेन ने राजधानी में भड़की हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने कहा कि उन्हें अचानक इसकी सूचना मिली. निश्चित रूप से यह चिंता का विषय है. पुलिस प्रशासन शहर में शांति स्थापित करने में अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं. हम सब सुनियोजित तरीके से ऐसी शक्तियों का शिकार हो रहे हैं, जिसका हम सबको गंभीर परिणाम भुगतना पड़ेगा. झारखंड की जनता हमेशा से संवेदनशील और सहनशील रही है. लोगों से अपील करता हूं कि वह धैर्य बनाये रखें. कानून और संविधान भी यही कहता है कि जो जुर्म करता है, उसे सजा मिलेगी. कोई भी किसी ऐसी घटना को अंजाम न दें, जिससे सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़े और वह जुर्म के भागीदार बनें.

शहर में शांति बनाये रखें: मौलाना ओबेदुल्लाह कासमी

एकरा मस्जिद के इमाम मौलाना ओबेदुल्लाह कासमी ने अपील की है कि शहर में शांति बनाये रखें. शहर में जो कुछ भी घटना हुई है, वह ठीक नहीं है. रांची शांतिप्रिय जगह है और इसे शांत ही रहने दिया जाये. कुछ लोग माहौल को खराब करने की कोशिश में लगे हैं. हमें उनके मंसूबों पर पानी फेरना होगा.

वहीं मसजिदे जाफरिया के इमाम मौलाना तहजीबूल हसन रिजवी ने कहा कि इस घटना के लिए जो लोग भी दोषी हैं, उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. कोई भी धर्म हमें नफरत करना नहीं सिखाता है. किसी भी जाति-धर्म पर पर टिप्पणी कहीं से सही नहीं है, हमें इन सब चीजों से बचना चाहिए.

नाजिमे आला एदारे शरिया के इमाम मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने कहा कि मेन रोड व अपर बाजार में जो घटना घटी है, वह कहीं से सही नहीं है. इस घटना की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए और जो दोषी हैं, उन्हें इसकी सजा मिलनी चाहिए. सभी लोग शांति बनाये रखने में अपनी भूमिका अदा करें।

   

FROM AROUND THE WEB