निपुण भारत मिशन" के अंतर्गत चार दिवसीय ब्लॉक स्तरीय संदर्भदाता प्रशिक्षण

खैराबाद में उप शिक्षा निदेशक/प्राचार्य के द्वारा सर्वप्रथम दीप प्रज्वलन एवं मां सरस्वती की वंदना के साथ अपने प्रेरक उद्बोधन से निपुण भारत मिशन के अंतर्गत फाऊंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमैरेसी आधारित चार दिवसीय ब्लॉक स्तरीय संदर्भ दाताओं के प्रथम बैच(ऐलिया,बेहटा,लहरपुर,महमूदाबाद,मछरेहटा,कसमंडा,गोंदलामऊ,खैराबाद,रेउसा,पहला व नगरक्षेत्र ए आर पी/ के आर पी)के प्रशिक्षण का प्रतिभागियों में नव ऊर्जा संचरण करते हुए शुभारंभ किया गया|
 
खैराबाद में उप शिक्षा निदेशक/प्राचार्य के द्वारा सर्वप्रथम दीप प्रज्वलन एवं मां सरस्वती की वंदना के साथ अपने प्रेरक उद्बोधन से निपुण भारत मिशन के अंतर्गत फाऊंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमैरेसी आधारित चार दिवसीय ब्लॉक स्तरीय संदर्भ दाताओं के प्रथम बैच(ऐलिया,बेहटा,लहरपुर,महमूदाबाद,मछरेहटा,कसमंडा,गोंदलामऊ,खैराबाद,रेउसा,पहला व नगरक्षेत्र ए आर पी/ के आर पी)के प्रशिक्षण का प्रतिभागियों में नव ऊर्जा संचरण करते हुए शुभारंभ किया गया|

स्वतंत्र प्रभात 

 खैराबाद सीतापुर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान खैराबाद में उप शिक्षा निदेशक/प्राचार्य के द्वारा सर्वप्रथम दीप प्रज्वलन एवं मां सरस्वती की वंदना के साथ अपने प्रेरक उद्बोधन से निपुण भारत मिशन के अंतर्गत फाऊंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमैरेसी आधारित चार दिवसीय ब्लॉक स्तरीय संदर्भ दाताओं के प्रथम बैच(ऐलिया,बेहटा,लहरपुर,महमूदाबाद,मछरेहटा,कसमंडा,गोंदलामऊ,खैराबाद,रेउसा,पहला व नगरक्षेत्र ए आर पी/ के आर पी)के प्रशिक्षण का प्रतिभागियों में नव ऊर्जा संचरण करते हुए शुभारंभ किया गया| जनपद स्तरीय संदर्भ दाता के रूप में सीमैट प्रयागराज से प्रशिक्षित (3 एसआरजी एवं डायट मेंटर) द्वारा प्रशिक्षण के चारों दिन गुणवत्तापूर्ण  एवं बोद्धगमय तरीके से सफलतापूर्वक प्रशिक्षण कराया गया| प्रथम दिन प्राचार्य महोदय के उद्बोधन के पश्चात परिचय सत्र में प्रत्येक ब्लॉक की ए आर पी के द्वारा अपने कार्य दायित्व के अतिरिक्त किए जा रहे अभिनव प्रयासों के बारे में संक्षिप्त चर्चा की गई| तत्पश्चात भारत सरकार द्वारा संचालित निपुण भारत मिशन एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित निपुण भारत मिशन उत्तर प्रदेश के संबंध पर विस्तृत स्वस्थ चर्चा की गई जिससे सभी प्रतिभागी दोनों में सहसंबंध एवं अंतर से अवगत हो सकें तत्पश्चात प्रशिक्षण से पूर्व प्री टेस्ट मे सभी प्रतिभागियों द्वारा प्रतिभाग किया गया, इसके पश्चात 4 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा पर चर्चा की गई एवं संदर्शिकाओं के महत्व एवं विषय वस्तु पर विस्तृत चर्चा की गई, संदर्शिका में प्रयुक्त संकेतो एवं प्रतीकों  पर चर्चा की गई। किस संकेत का क्या अर्थ है.. कोविड-19 से शिक्षा पर क्या प्रभाव पड़ा उसके दुष्परिणाम कैसे कम हो सकते हैं उन उपायों पर चर्चा की गई, सीखने के सिद्धांत पर चर्चा की गई और उसके बाद अगले सत्र में उत्साहवर्धक गतिविधियां कराई गईं। प्रथम दिन समूह चर्चा के अंतर्गत वर्तमान में भाषा कैसे सिखाई जाती है के साथ समापन किया गया। द्वितीय दिन पूर्व दिवस का प्रतिवेदन श्री पूर्णेश शुक्ला ए आर पी पहला के द्वारा प्रस्तुत किया गया तत्पश्चात बुनियादी साक्षरता की वार्षिक योजना पर कैसी होनी चाहिए इस पर चर्चा के साथ दूसरे दिन का प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ... अगले सत्र में निपुण भारत के अंतर्गत भाषा पर आधारित शिक्षण संदर्शिका पर विस्तृत चर्चा की गई जिसमें विस्तार से बताया गया कि प्रत्येक कक्षा में किस प्रकार से इनका क्रियान्वयन होना है और किस प्रकार और कब आकलन किया जाना है... अगले सत्र में भाषा शिक्षण के अंतर्गत कक्षा 1 से 3 में किस प्रकार से कालांश विभाजन होगा इस पर चर्चा की गई ।चार्ट एवं पोस्टर में क्या अंतर है इस पर चर्चा करते हुए भाषा और गणित में इनकी संख्या बताई गई जो विभाग द्वारा प्रदत्त है। पठन व डिकोडिंग पर चर्चा के साथ द्वितीय दिवस के प्रशिक्षण का समापन हुआ।

 तृतीय दिवस पूर्व दिवस का प्रतिवेदन श्री प्रभाकर मिश्रा के द्वारा प्रस्तुत किया गया । प्रशिक्षण की शुरुआत पूर्व दिवस के प्रकरण वर्ण और अक्षर में अंतर से प्रारंभ हुई जिस पर ज्ञानवर्धक विस्तार से चर्चा हुई। तत्पश्चात श्री मदनेश मिश्रा एसआरजी के द्वारा गणितीय गतिविधि कराई गई जिसमें सभी प्रतिभागियों ने रुचि के साथ प्रतिभाग किया। उसके पश्चात श्री करुणेश मिश्रा एसआरजी के द्वारा गणित की प्रकृति पर चर्चा की गई एवं संदर्शिका के अंतर्गत किस प्रकार से कालांश विभाजन करना है एवं किस प्रकार से साप्ताहिक संदर्शिका का क्रियान्वयन किया जाना है इस पर विस्तृत चर्चा की गई। तीसरे दिवस का समापन ग्रुप में चर्चा प्रस्तुतीकरण के साथ हुआ। अंतिम दिवस के प्रशिक्षण का प्रारंभ श्री पवन शुक्ला ए आर पी मछरेहटा के द्वारा पूर्व दिवस के प्रतिवेदन के साथ किया गया अंतिम दिवस के प्रशिक्षण में पूर्व के दिवस के प्रशिक्षण का दोहराव कराया गया और पूर्व तीन दिवस के प्रशिक्षण से संबंधित 10 प्रश्न पूछे गए फिर उनका उत्तर बताते हुए पूरे प्रशिक्षण का पुनरावलोकन कराया गया.. श्री करुणेश मिश्रा एस आर जी के द्वारा भाषा और गणित में प्रशिक्षण के दौरान कुछ विशिष्ट बातों को विशेष बल देते हुए प्रतिभागियों की समझ उन विशिष्ट बातों पर विकसित की गई.. प्रशिक्षण का समापन वरिष्ठ प्रवक्ता श्री अखंड प्रताप सिंह, वरिष्ठ प्रवक्ता श्री ओम प्रकाश यादव एवं प्रशिक्षण के नोडल डायट मेंटर श्री दिलीप कुमार रजक सभी ब्लॉक स्तरीय संदर्भदाताओं को ब्लॉक में बेहतर और सफल प्रशिक्षण हेतु शुभकामना संदेश के साथ समापन किया गया।

   

FROM AROUND THE WEB