कप्तान के आदेशों पर भारी पड़ रहे कोतवाल कर्नलगंज और बालपुर चौकी इंचार्ज

 
कप्तान के आदेशों पर भारी पड़ रहे कोतवाल कर्नलगंज और बालपुर चौकी इंचार्ज

स्वतंत्र प्रभात-
 

कर्नलगंज, गोण्डा।  जिले की पुलिस के अड़ियल रवैये के चलते व्यापारी व आम जनमानस काफी परेशान है वहीं थाने का चक्कर कटवाने का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। जहां प्रभारी निरीक्षक को तो छोड़िये आजकल चौकी इंचार्ज भी कप्तान के भी निर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए नजर रहे हैं।

जिसका जीता जागता उदाहरण  कोतवाली कर्नलगंज के बालपुर चौकी क्षेत्र अंतर्गत एक गाँव मे तेरह दिनों पूर्व हुई लाखों की चोरी की घटना से देखा जा सकता है जिसमे अभी तक पुलिस द्वारा ना तो एफआईआर दर्ज की गई है और न ही कोई कार्यवाही की गई है। उल्टे पीड़ित पर ही जिम्मेदार हुक्मरान सवाल दाग रहे हैं। ऐसे में क्षेत्र में अपराधियों की बल्ले बल्ले है। वहीं पुलिस कप्तान के निर्देशों की ही कोतवाली कर्नलगंज के कोतवाल और चौकी इंचार्ज बालपुर खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। 

विदित हो कि मामला कोतवाली कर्नलगंज के अंतर्गत बालपुर चौकी क्षेत्र के ग्राम पंचायत भट्नैया छांगुर पुरवा का है, जहां विगत तेरह दिनों पूर्व हुई अनिल कुमार के यहाँ हुई चोरी की घटना में एफआईआर दर्ज ना करके आनाकानी करते हुए चौकी इंचार्ज पीड़ित से ही उल्टे सीधे सवाल कर रहे हैं। जिससे पुलिस की निरंकुश कार्यशैली से त्रस्त होकर पीड़ित ने कप्तान से न्याय की गुहार लगाई, कप्तान ने उक्त मामले में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कर्नलगंज को एफआईआर दर्ज करके कार्यवाही करने के निर्देश दिए। लेकिन अब जिम्मेदार लोग कप्तान के भी निर्देशों को भी रद्दी टोकरी में डाल कर बैठे हुए हैं और कप्तान के आदेशों पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कर्नलगंज सुधीर सिंह एवं बालपुर चौकी इंचार्ज भारी पड़ रहे हैं। पीड़ित से बात करने के बाद पता चला कि अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है जिससे विवश होकर उसने पुलिस उपमहानिरीक्षक देवीपाटन मंडल से फरियाद की है। बताते चलें कि पीड़ित व्यक्ति ने अपनी जीविका चलाने के लिए मेडिकल स्टोर खोल रखा है जिससे समय ना होने से वह चौकी के चक्कर लगाने में असमर्थ है और उसकी सुनवाई नहीं हो रही है। 

जानें क्या है पूरा मामला

बीते तेरह दिन पूर्व शुक्रवार की रात अज्ञात चोरों ने भट्नैया निवासी अनिल कुमार के घर छत के रास्ते से घुसकर पचास हजार रुपए नगद व चार लाख के जेवर पर हाथ साफ कर दिया था, जिस पर पीड़ित द्वारा डायल 112 पर सूचना दी गई और चोरी की तहरीर बालपुर चौकी प्रभारी एवं प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कर्नलगंज को दी गई। लेकिन पुलिस पीड़ित को जांच करने की बात कह कर टालती रही। पीड़ित अनिल कुमार के मुताबिक एक सप्ताह बाद भी इस मामले की सुनवाई नहीं हुई तो उसने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर एफआईआर दर्ज कराने की गुहार लगाई जिस पर पुलिस कप्तान संतोष मिश्र ने प्रभारी निरीक्षक कर्नलगंज को रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिये लेकिन अभी तक पीड़ित को ना कोई सूचना दी गई और ना ही कोई कार्यवाही की गई। वहीं पीड़ित ने बताया कि यदि एक दो दिन में कार्यवाही नहीं हुई तो वह शासन स्तर के उच्चाधिकारियों की शरण लेने और न्याय की गुहार लगाने को विवश होगा।

   

FROM AROUND THE WEB