जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के चलते आज भी शौचालय कम्पलीट नही हो पाये अभी तक पड़े अधूरे शौचालय

नजर आ रहे है वही इस समबन्ध मे खण्ड विकास अधिकारी का कहना है की मामला संज्ञान मे नही है इसकी जांच करायी जायेगी  
 
जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के चलते आज भी शौचालय कम्पलीट नही हो पाये अभी तक पड़े अधूरे शौचालय

​​​स्वतंत्र प्रभात 

हैदरगढ बाराबकी  सरकार की मंशा है कि गांव को गंदगी से मुक्त कर बीमारी पर रोकथाम लगाई जाए इसके लिए सरकार ने करोड़ों रुपए पानी की तरह खर्च कर घर-घर शौचालय बनवाने के लिये प्रोत्शाहन राशि के साथ  जिसके पास जगह नहीं है  और बाहरी आगंतुकों की सुविधा के लिए गांव में एक बड़े सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराए जाना था वही विकास खण्ड हैदरगढ क्षेत्र मे जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के चलते आज भी शौचालय कम्पलीट नही हो पाये है  और अधूरे पड़ें है जिसके चलते जिसके चलते ग्रामीणो को इसका फायदा नही मिल पा रहा है ।ऐसा ही कुछ हाल हैदरगढ़ क्षेत्र की ग्राम पंचायत चकौरा में देखने को मिला यहां पर भी ग्रामीणों की सुविधा के लिए सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया है जो अधूरा पड़ा हुआ है ग्रामीणों ने बताया करीब 1 साल पहले

प्रधान द्वारा शौचालय का निर्माण कार्य कराया गया जो कंप्लीट नही हुआ है ऐसे ही अधूरा छोड दिया गया है और हमेशा ताला लगा रहता है इसका संचालन न होने से ग्रामीणों को इसका फायदा नहीं मिल पा रहा है और बाहर खुले शौच करने के लिए मजबूर हैं वही जिम्मेदार अधिकारी भी मामले से अन्जान बने हुए है और चुप्पी साध रखी है शौचालय का संचालन क्यो नही हो रहा है पूछने की जहमत तक नही उठायी जा रही है कुल मिलाकर यह समझिये की सरकार की मंशा पर जिम्मेदार पानी फेरते हुए नजर आ रहे है वही इस समबन्ध मे खण्ड विकास अधिकारी का कहना है की मामला संज्ञान मे नही है इसकी जांच करायी जायेगी  

   

FROM AROUND THE WEB