महाराणा के प्रताप ने बचाया राष्ट्र का गौरव: केए भाटी

महाराणा के प्रताप ने बचाया राष्ट्र का गौरव: केए भाटी

पलियाकलां-खीरी। राष्ट्रनायक, राष्ट्रभक्ति के प्रेरणाश्रोत क्षत्रियकुल शिरोमणि महावीर राणा प्रताप के प्रताप, वीरता एवं अदम्य साहस ने भारतवर्ष के गौरव की रक्षा की है। विपरीत परिस्थितियों में मुगलों से लोहा लेते हुए अपने प्राणों को न्यौछावर करने वाले महाराणा प्रताप ने सशक्त व अखण्ड भारत के निर्माण की बागडोर युवा पीढ़ी को सौंपी। उक्त उद्गार राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्ण अवतार सिंह भाटी ने व्यक्त किए। वह महाराणा प्रताप की 479वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे।

कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती के चित्र पर के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं माल्यार्पण कर की गई। श्री सिंह ने अरावली के युद्ध, भामाशाह के त्याग, घोड़े चेतक के बलिदान, हाथी राम प्रसाद की स्वामिभक्ति आदि अनेक प्रसंगों के माध्यम से जनसमूह को राष्ट्रीयता, कर्तव्यता एवं समर्पण हेतु प्रेरित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पूर्व जिला पंचायत सदस्य ऋषिकेश सिंह ने राष्ट्र को विश्वगुरु के रूप में स्थापित करने हेतु सभी  लोगों से क्षत्रित्व धारण करने का आह्वान किया।

वीर महापुरुष के जीवन को प्रकाशित करते हुए उपनिरीक्षक केके सिंह, बजाज हिन्दुस्थान चीनी मिल सहायक सुरक्षा प्रबन्धक शिव सिंह बजेठा, उपनिबंधक अनूप सिंह, गजेंद्र सिंह, समाजसेविका मंजू सोलंकी, स्नेहलता सिंह, राजेश गुप्ता, पूर्व पालिकाध्यक्ष केबी गुप्ता, वरिष्ठ अधिवक्ता अमित महाजन, पेट्रोलियम व्यवसायी अनूप गुप्ता, समाजसेवी जसपाल सिंह गोहनियां, नगर अध्यक्ष अंकुर सिंह, ब्लॉक महामन्त्री आशीष सिंह व नगर महामन्त्री प्रशांत सिंह चैहान आदि ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। जयंती समारोह का सफलतापूर्व संचालन संगठन महामन्त्री उदयवीर सिंह द्वारा  किया गया।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments