पूर्व गृह राज्य मंत्री चिन्मयानंद  के  प्रकरण  में एसआईटी ने जमाया शाहजहांपुर में डेरा लगातार हो रही छानबीन

पूर्व गृह राज्य मंत्री चिन्मयानंद  के  प्रकरण  में एसआईटी ने जमाया शाहजहांपुर में डेरा लगातार हो रही छानबीन

शाहजहांपुर/ आजकल शाहजहांपुर जिले में स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के लगे आरोप के संबंध में एसआईटी ने डेरा जमा रखा है लगातार कई दिनों से इस प्रकरण में गहनता से छानबीन चल रही है जहां एक और एसआईटी  टीम ने आरोप लगाने वाली छात्रा के हॉस्टल को खंगाल डाला है क्योंकि छात्रा शुरू से ही कहती रही है की हॉस्टल में स्वामी के खिलाफ कई सबूत रखे हुए हैं

तो गुपचुप तरीके से बाबा से भी पूछताछ की चर्चाएं हैं क्योंकि मंगलवार को छात्रा को साथ लेकर एसएस कॉलेज में एसआईटी टीम ने राउंड लिया था जो लगभग वहां से 6 घंटे तक परिसर में रुकी जानकारों के मुताबिक उस समय आरोपी चिन्मयानंद भी कॉलेज में ही मौजूद थे एसआईटी टीम के कॉलेज प्रवेश करते ही सुरक्षा इतनी कड़ी कर दी गई थी की मीडिया कर्मियों का अंदर जाना नामुमकिन हो गया जब मीडियाकर्मियों ने अंदर जाने का प्रयास किया तो पुलिस प्रशासन ने रोक लिया जानकारों के मुताबिक कालेज के प्रधानाचार्य सहित अन्य से भी पूछताछ की गई है  फिलहाल चिन्मयानंद के अधिवक्ता ने किसी भी पूछताछ से इनकार किया है जांच पड़ताल गोपनीय तरीके से की जा रही है जिसकी भनक स्थानीय पुलिस को भी नहीं लगती



एसआईटी टीम के प्रवेश होते ही सुरक्षा व्यवस्था भी हुई चौकस

एसआईटी टीम ने जैसे ही कालेज में प्रवेश किया कि कॉलेज के मैन द्वारों पर स्थानीय पुलिस सुरक्षा व्यवस्था में चौकस हो गई हालांकि स्थानीय पुलिस कॉलेज  परिसर में टीम के साथ नहीं रही

छात्रा का हॉस्टल में रूम किया गया सील
जानकारों के मुताबिक एस आईटी टीम ने छात्रावास में आरोप लगाने वाली छात्रा के कमरे को गेट पर प्लाई बोर्ड लगाकर सील कर दिया है क्योंकि छात्रा लगातार छात्रावास में है स्वामी के खिलाफ सबूत की बात कहती रही है

आरोपी चिन्मयानंद ने मौन व्रत तोड़ने के बाद  लगाया था साजिश का आरोप

इस प्रकरण में आरोप लगते ही स्वामी चिन्मयानंद ने मौन व्रत धारण कर लिया था जो काफी दिनों तक मीडिया के सामने नहीं आए कुछ दिन पूर्व  शाहजहांपुर आने पर  चिन्मयानंद ने मौन व्रत तोड़ते हुए बगैर किसी का नाम लेते हुए आरोप लगाया था कि हमारा कॉलेज विश्वविद्यालय बनने जा रहा है इसको रोकने के लिए कुछ लोगों ने षड्यंत्र के तहत फंसाने का प्रयास किया है वहीं इससे पूर्व चिन्मयानंद ने व्हाट्सएप मैसेज के जरिए करोड़ों रंगदारी मांगने का एक मुकदमा भी दर्ज कराया था जिसमें फिलहाल अभी तक कुछ खुलकर सामने नहीं आ सका है

सोशल मीडिया पर भी वीडियो फोटो हो रहे वायरल


इस प्रकरण में सोशल मीडिया पर भी एक-दो दिन से वीडियो के स्क्रीनशॉट जिनमें आपत्तिजनक फोटो वायरल हो रहे थे इसी बीच  छात्रा और कुछ लड़कों के बीच रंगदारी के संबंध में चर्चाओं का वीडियो भी वायरल हो गया फिलहाल वीडियो में यह स्पष्ट नहीं हो रहा है की वीडियो असली है या नकली हां इतना जरूर है की वीडियो में रंगदारी से संबंधित चर्चाएं हो रही हैं गाड़ी में मौजूद एक व्यक्ति दूसरे से बोल रहा है तुम्हें मैसेज भेजने की क्या जरूरत थी वाह कोई छोटा मोटा व्यक्ति नहीं है वही इन्हीं लड़कों के साथ छात्रा कि खाना खाने की भी फोटो वायरल हो चुकी हैं

2 दिन पूर्व आरोप लगाने वाली छात्रा आई थी मीडिया के सामने  लगाए थे कई गंभीर आरोप

स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा एसआईटी की पूछताछ के बाद सोमवार को मीडिया के सामने  आई थी छात्रा ने आरोप लगाते हुए कहा था  कि स्वामी ने उसके साथ दुष्कर्म किया और एक साल तक उसका शारीरिक शोषण  किया उसने दिल्ली में दुष्कर्म की तहरीर दी लेकिन अभी तक यह मामला शाहजहांपुर में दर्ज नहीं किया गया।अपने घर पर मीडिया से रूबरू हुई। छात्रा ने शाहजहांपुर के डीएम पर पिता को धमकाने का आरोप भी लगाया। स्वामी चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में संदेह के घेरे में आए संजय को उसने भाई बताया। कहा कि वह डर की वजह से संजय के साथ राजस्थान में थी।छात्रा ने  कहा था कि उसने दिल्ली के लोधी थाने में दुष्कर्म की तहरीर दी। वहां से उसकी शिकायत की एक कॉपी एसआईटी को दे दी गई,

उसने आरोप लगाया कि कॉलेज में और भी छात्राएं हैं, जिनके साथ स्वामी ने इसी तरह की हरकतें की हैं, लेकिन वह पहली लड़की है, जिसने स्वामी के खिलाफ आवाज उठाई है। छात्रा ने कहा कि उसके पास सबूत हैं और वह समय आने पर सारे सबूत पेश करेगी।छात्रा ने कहा कि एसआईटी ने उससे व उसके पिता से 11 घंटे तक पूछताछ की। उसे एसआईटी की पूछताछ से कोई दिक्कत नहीं है लेकिन आरोपी स्वामी चिन्मयानंद से अभी तक न तो पूछताछ की गई और न ही उन्हें गिरफ्तार किया गया, जबकि उससे कई चरण में पूछताछ हो चुकी है। छात्रा ने आरोप लगाया कि जब उसके पिता ने चौक कोतवाली में तहरीर दी थी जिसकी आज तक रिपोर्ट भी दर्ज नहीं हुई तब डीएम ने उसके पिता को धमकाया था। उसने डीएम पर भी कार्रवाई की मांग की  थी

पेन ड्राइव ला सकती है  चिन्मयानंद  प्रकरण में नया मोड़

चिन्मयानंद पर लगे आरोप के मामले में  जांच में जुटी एसआईटी  को जानकारों के मुताबिक छात्रा के भाई ने एक पेन ड्राइव सौंपी है  पीड़ित लड़की और उसके भाई का दावा है कि अगर एसआईटी ने ईमानदारी से जांच की तो 'पेन-ड्राइव' में सब कुछ मौजूद है. 'सब-कुछ' के बारे में खुलकर कहने वाले युवक का दावा है, कि 'इस पेन ड्राइव में एक वीडियो है, चिन्मयानंद का असली चेहरा क्या है? जांच में यह सब उजागर करने के लिए पेन-ड्राइव ही काफी है.'

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments