19 ग्राम पंचायत अधिकारी और 44 ग्राम विकास अधिकारी को नोटिस

3 करोड़ की धनराशि आहरित होने के बाद भी 111 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय अपूर्ण
 
19 ग्राम पंचायत अधिकारी और 44 ग्राम विकास अधिकारी को नोटिस

स्वतंत्र प्रभात-

1- अपूर्ण शौचालय को पूर्ण दिखा कराया जिओ टैग, उच्च अधिकारियों को किया गुमराह, जांच रिपोर्ट में खुलासा

2- इन अपूर्ण एवं अक्रियाशील शौचालयों में केयर टेकर का हो रहा है भुगतान

3- सात दिन के भीतर देना होगा जवाब, संतोषजनक जवाब न होने पर नियमानुसार वसूली, अनुशासनात्मक कार्यवाही एवं विधिक कार्यवाही होगी

देवरिया, 22 जून। जनपद में सामुदायिक शौचालय के निर्माण में गंभीर अनियमितता मिलने पर 19 ग्राम पंचायत अधिकारी और 44 ग्राम विकास अधिकारियों को नोटिस दिया गया है। इन सभी कर्मियों ने अपनी -अपनी तैनाती स्थल पर सामुदायिक शौचालय के निर्माण के लिए लगभग 3,02,26,000 का आहरण किया है। धन आहरण के 1 वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद भी जनपद के कुल 111 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय का निर्माण अभी तक पूर्ण नहीं हो सका है, जबकि इन कर्मियों ने अपनी रिपोर्ट में शौचालयों को पूर्ण दिखाते हुए उसकी जिओ टैगिंग भी दर्शा दी है।

जिलाधिकारी ने सामुदायिक शौचालय के निर्माण से जुड़ी शिकायतों के आधार पर कार्यों का भौतिक सत्यापन कराया, जिसमें कई गंभीर खामियां मिली। जिला पंचायत राज अधिकारी ने अपनी जाँच रिपोर्ट में बताया है कि इन ग्राम पंचायत स्तरीय कार्मिकों ने सिर्फ सामुदायिक शौचालय का निर्माण पूर्ण दिखाया  है, बल्कि उक्त शौचालयों का फर्जी जिओ टैग कराकर शासन एवं उच्चाधिकारियों को भी गुमराह करने का प्रयास किया है।

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि इन सभी कर्मचारियों को सात दिन की समयसीमा में जवाब देना होगा। जवाब संतोषजनक न होने की स्थिति में शासन की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति के तहत दुरूपयोगित धनराशि की वसूली, अनुशासनात्मक कार्यवाही एवं अन्य विधिक कार्यवाही की जाएगी। शासकीय धन का दुरुपयोग किसी भी दशा में स्वीकार नहीं किया जाएगा।

   

FROM AROUND THE WEB