महिला पुलिस ने विक्षिप्त लड़की को किया परिजनो के सुपुर्द

 
महिला पुलिस ने विक्षिप्त लड़की को किया परिजनो के सुपुर्द


स्वतंत्र प्रभात संजय द्विवेदी
मेजा प्रयागराज। 


मेजा थाने में तैनात दो महिला सिपाही नेहा तिवारी तथा वन्दना ने कर्तव्य के प्रति समर्पण भाव की एक मिसाल पेश की है जिनकी एक जिद ने एक परिवार की खुशियां लौटा दी। दरअसल बीते बुधवार की रात्रि इन दोनों महिला सिपाहियों को सड़क के किनारे एक विक्षिप्त लड़की जाते हुए दिखाई दिया। 

महिला सिपाहियों ने युवती को थाने ले आई और उसका हाल चाल जानना चाहा लेकिन विक्षिप्त युवती कुछ बताने की स्थिति में नहीं थी।अगली सुबह बदहाल स्थिति में रही युवती को नहला धुलाकर नए कपड़े पहनाए गए। 

दोनों महिला सिपाहियों ने बड़े ही सूझबूझ से उसका अता-पता जानने का प्रयास किया। काफी समय के बाद युवती ने अपनी जुबान से प्रियंका और राबर्ट्सगंज का नाम लिया। दोनों महिला सिपाहियों ने थाना राबर्ट्सगंज में फोन कर किसी महिला के गुमशुदगी की जानकारी ली लेकिन थाने से किसी युवती के लापता होने की लोकेशन नहीं मिली। उक्त युवती बार-बार रावटसगंज का नाम लेती रही।

 फिर क्या दोनों महिला सिपाहियों ने राबर्ट्सगंज के दर्जनों निजी नंबरों पर ताबड़तोड़ फोन कर वहा हलचल पैदा कर दिया। इधर चौविश घंटे बीत जाने के बाद भी दोनों महिला सिपाहियों ने हार नहीं मानी उनकी विक्षिप्त युवती को घर से मिलवाने की जिद ने आखिरकार रंग ला दिया। गुरुवार शाम को पहुंचे पिता राजकुमार ने मानसिक रूप से अस्वस्थ लापता पुत्री की पहचान कर खुशी-खुशी घर ले गए।महिला पुलिसकर्मियो को धन्यवाद ज्ञापित किया।

FROM AROUND THE WEB