भ्रष्टाचार में लिप्त दो स्वास्थ्यकर्मियों के विरुद्ध थाने में अटक गई है तहरीर

गोलमाल न्यूज 
 
पीएचसी
स्वास्थ्य विभाग में घोटाला 
तहसील प्रभारी शिव शंभू सिंह

खड्डा,कुशीनगर। खड्डा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तुर्कहां पर हुए भ्रष्टाचार और घोटाले के मामले में जांच में दोषी पाए गए दो स्वास्थ्य कर्मियों के विरुद्ध सीएमओ ने एफआईआर दर्ज कराने का आदेश जारी किया है। इस आदेश से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।

कुशीनगर के सीएमओ डा.सुरेश पटारिया ने प्रभारी चिकित्सा अधिकारी खड्डा डा.संतोष गुप्ता को एफआईआर दर्ज कराने का पत्र 05 जनवरी को जारी किया है, जिसमें बताया गया है कि खड्डा के पीएचसी व सीएचसी में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21में जेएसवाई, प्रशासनिक मद व रोगी कल्याण समिति में की गई वित्तीय अनियमितता की शिकायत की जांच डॉ.वीके वर्मा जिला कुष्ठ अधिकारी एवं जिला लेखा प्रबंधक एनएचएम कुशीनगर द्वारा कराई गई। जांच टीम ने रिपोर्ट 31 दिसंबर को प्रस्तुत की। प्रस्तुत रिपोर्ट में कार्यवाही की संस्तुति के लिए डीएम को भी भेजा गया। डीएम एस. राजलिंगम के अनुमति के बाद सीएमओ ने प्राथमिक स्वास्थ्य खड्डा के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉक्टर संतोष कुमार गुप्ता को पत्र जारी कर जांच में दोषी स्वास्थ्य कर्मचारी नवीन कुमार पटेल (ब्लाक लेखा प्रवंधक) व विजय कुमार (ब्लाक कम्युनिटी प्रोसेस प्रवंधक) के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश जारी किया है।

क्या कहते हैं प्रभारी चिकित्साधिकारी खड्डा-इस संबंध में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. संतोष गुप्ता का कहना है कि एफआईआर का निर्देश हुआ है। सोमवार को थाने में तहरीर दी जाएगी।

क्या है पूरा मामला- स्वास्थ्य विभाग में लोगों की जिंदगी बचाने के लिए आए सरकारी धन के घपले के बाबत 10 सितंबर 2021 को सीएमओ एवं डीएम को भेजे गए पत्र में नेबुआ नौरंगिया सीएचसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. संतोष गुप्ता ने लिखा है कि उनकी तरफ से 23 अगस्त 21 को खड्डा पीएचसी एवं सीएचसी के वर्ष 2020-21 की कार्ययोजना का निरीक्षण किया गया। पता चला कि जेएसवाई एडमिन में 392000 (तीन लाख बानबे हजार) रुपये खर्च दिखाया गया है, जबकि हकीकत में एक पैसा खर्च नहीं हुआ है। 

इसी तरह रोगी कल्याण समिति का 13 लाख रुपये का खर्च विभिन्न कार्यों के लिए कागज में दिखाया गया है, लेकिन वास्तव में एक भी पैसा खर्च नहीं किया गया है। न्यू पीएचसी शिवपुर व बरवा रतनपुर के कार्यों में घोर अनियमितता बरती गई है। इस पत्र में जांच अधिकारी डॉ. संतोष गुप्ता ने साफ-साफ तत्कालीन प्रभारी चिकित्साधिकारी, ब्लॉक लेखा प्रबंधक खड्डा व ठेकेदार पर मिल जुलकर धन का घपला करने की बात कही है। रिपोर्ट डा. गुप्ता ने पूर्व में सीएमओ कुशीनगर को प्रेषित कर दी थी। इस संबंध में थानाध्यक्ष खड्डा धनवीर सिंह ने कहा तहरीर मिली है मुकदमा लिखने हेतु विधिक सलाह ली जा रही है।

FROM AROUND THE WEB